World Population Day New Update 2022

World Population Day क्यों मनाया जाता है विश्व जन्शंख्या दिवस , जाने और इसके महत्त्व को समझिये ;

आपको पता है की विश्व जन्शंख्या  दिवस (World Population Day) क्यों मनाया जाता है क्योंकि हर साल पुरे विश्व में दिन प्रतिदिन जो जनसँख्या में वर्धि बढती जा रही है,

World Population Day
 World Population Day

जिस तरह घडी में समय हर दिन बढ़ता ही जाता है और उसकी गति को हम काबू में नही कर सकते ;

वैसे ही जनसँख्या वर्दी में भी पुरे विश्व की लाख कोशिशें करने के बाद इसमें कुछ खास असर नहीं दिख रहा है ,

आपको बता दे की पूरे विश्व में चीन की जन्शंख्या ज्यादा के बाद भारत दूसरे नंबर पे जनसख्या वर्दी में आता है ,

इसके साथ ही इस तरह से बढ़ती जनसंख्या का संकेत सीधे तौर पे कई तरह की World Population Day समस्याओं को जन्म देती है,

जैसे ज्यादा जनसँख्या वर्धि के कारन किसी भी देश का अच्छे से विकास होने में काफी दिक्कतें आती है,

World Population Day
World Population Day

,साथ ही भुखमरी और गरीबी भी सर चढ़कर अपना असर दिखाती है

जिसके कारण पूरा विश्व यह दिन मनाता है 11 जुलाई को आने वाला यह 30वा World Population Day मनाया जायेगा पूरा विश्व इस दिन को अपने अपने देशों में मनाते है

इस दिन को मनाने के लिए ये सुझाव डॉक्टर केसी जैक्रियाह (Dr.KC Zachariah) ने बताया था

जिन्होंने बताया थी कि दुनिया की जनसंख्या का आंकड़ा उस समय 1987 में करीब 5 बिलियन तक पहुँच चूका था

जब यह आंकड़ा इतना ज्यादा पहुंच गया था तब यूनाइटेड नेशंस डेवलपमेंट प्रोग्राम ने ;

तब तय किया कि इस तरह तो आने वाले समय में विश्व में काफी प्रॉब्लम का सामना करना पड़ेगा

तब उन्होंने यह तय किया की इसके बारे में दुनिया को अवगत कराना बहुत जरुरी है

जिसके चलते जनसख्या वर्दी पे ध्यान दिया जा सके तथा उनकी तरफ से इस दिन के लिए सभी देशो में छुट्टी की घोषणा की जाये और ;

1989 में इस दिन को मानाने की शुरुआत की गई तथा 1990 में दिसंबर के महीने में सयुक्त राष्ट्र महासभा ने रेज्योलूशन 45/216 को सविकरीति दी गयी ,

तथा सभी देशो का ध्यान इस दिन की और करने के लिए इस लागु किया गया

World Population Day का महतय है की इसके कारन हमारे विश्व की पॉपुलातीं को सुधर करना है तथा इसके परिणाम हमारे वर्ल्ड के लिए बहुत ही खतनाक साबित हो सकते है

इन खतरनाक परिणामो की तरफ खींचना है तथा पुरे विश्व में इसे कई तरह से कार्यकर्मो को आयोजित करके ;

इससे होने वाले खतरे की तरफ ध्यान दिलाना है जैसे गरीबी का इसके कारन बढ़ना ,जच्चा बच्चा के स्वास्थय की तरफ ध्यान को खींचना

लेंगिग में समानता हों ,मानवो अधिकारों को नुकशान पहुंचना ,तथा काफी प्रॉब्लम है जो पापुलेशन हाई होने से खतरे को जन्म देती है इनकी तरफ ध्यान दिलाना है

Leave a Comment